मोगा के बाद अब फिरोजपुर में लगे सवर्ण प्रत्याशियों के विरोधाभास पोस्टर, समान्यवर्ग होने लगा लामबंद

0
34

वाराणसी (केंद्रीय कार्यालय) सामान्य वर्ग का सवर्ण सांसदों के खिलाफ गुस्सा थमने का नाम नही ले रहा। पीढ़ी दर पीढ़ी आरक्षण का दंश झेल रहा समान्यवर्ग का रोष सवर्ण सांसदों के खिलाफ बढ़ता जा रहा है। सामान्य वर्ग से संबंधित कोई अपने बच्चों को आरक्षण की वजह से सीट ना मिल पाने से खफा है तो कोई अपने बच्चों के भविष्य को लेकर चिंतित है। देश मे ऐसे लोगों की संख्या भी दिन ब दिन बढ़ती जा रही है जिन पर ScSt एक्ट के तहत झूठे मुकद्दमे किए गए। जिस वजह से आज सामान्य वर्ग अपने सांसदों से रुष्ट तो है ही, साथ ही साथ अपने आप को ठगा हुआ महसूस कर रहा है। इन्ही कारणों से आज समान्यवर्ग लामबंद होता दिखाई दे रहा है।

पिछले दिनों पंजाब के मोगा शहर के एक व्यक्ति द्वारा अपने घर के बाहर सवर्ण प्रत्याशियों के खिलाफ पोस्टर लगाया गए था। जिसने शोशल मीडिया पर खूब सुर्खियां बटोरी। देखते ही देखते समान्यवर्ग द्वारा देश भर में ऐसे पोस्टर अपने घरों के बाहर लगाए जाने लगे।

ऐसा ही एक मामला तब सामने आया जब आरक्षण संघर्ष समन्वय समिति के पंजाब प्रदेश उपप्रधान अश्वनी शर्मा के नेतृत्व में फिरोजपुर में सामान्य वर्ग के लोगों को लामबंद कर एक मुहिम चलाई गई। जिसमें सामान्य की टोली अपने घरों से निकलती है और अपने एवं अपने परिवार के साथ हो रहे अन्याय की बात समान्यवर्ग के लोगों के आगे रखकर उन्हें लामबंद करने का कार्य कर रही है।

लामबंद हो रहा सामान्य वर्ग

लामबंद परिवार सुप्रीमकोर्ट ऑफ इंडिया के सीनियर अधिवक्ता श्री अभय कांत मिश्रा के नेतृत्व में चल रही “आरक्षण संघर्ष समन्वय समिति” की मुहिम के साथ जुड़ कर समान्यवर्ग के लिए सरकारों से सवर्ण आयोग की मांग करते हैं। लामबंद हो रहे परिवार अपने घरों व दुकानों के बाहर सवर्ण प्रत्याशियों के खिलाफ पोस्टर भी लगा रहे हैं। जिसमें लिखा है कि “सवर्ण प्रत्याशी हमारे यहां वोट मांगने ना आए, सामान्य वर्ग के लिए कुछ करना ही नही तो सामान्य वर्ग से वोट कैसा”


आरक्षण संघर्ष समन्वय समिति के राष्ट्रीय संयोजक अधिवक्ता अभय कांत मिश्रा का फाइल चित्र

घरों दुकानों के बाहर लगे स्वर्ण प्रत्याशियों के खिलाफ पोस्टर

जब इस संदर्भ में श्री अश्विनी शर्मा से संपर्क किया गया तो उन्होंने बताया जी आरक्षण संघर्ष समन्वय समिति के बैनर तले सवर्ण आयोग की मांग को लेकर देश भर में सामान्य वर्ग को लामबंद और जागरूक करने के लिए जन जागरण अभियान चलाया गया है। इसी कड़ी के तहत फिरोजपुर में भी विभिन्न टोलियां बनाई गई हैं। श्री शर्मा ने कहा कि इतिहास गवाह की देश मे पिछले 75 सालों से समान्यवर्ग को प्रताड़ित किया जा रहा है। समान्यवर्ग के बच्चे सरकारों की भेदभाव वाली नीति से तंग आकर व अपने भविष्य को खतरे में देख, विदेशों की तरफ रुख करने लगे हैं, ScSt के तहत किए जा रहे झूठे मुकद्दमों से घबराए सामान्य वर्ग के लोगों की सवर्ण सांसद भी सुनने को तैयार नही है, सरकारें वोट बैंक की राजनीति के चक्कर मे देश को आरक्षण की आग में झुलसा रहे हैं।

अश्वनी शर्मा का फाइल चित्र

श्री अश्वनी शर्मा ने कहा कि देश मे समान्यवर्ग से हो रही धक्केशाही से राहत पाने का एक ही समाधान नजर आ रहा है। वह है सवर्ण आयोग। सवर्ण आयोग में कम से कम हम बात तो रख सकेंगे। श्री शर्मा ने कहा कि जब तक केंद्र सरकार सवर्ण आयोग गठित करने की हमारी जायज मांग को नही मान लेती तब तक सवर्ण सांसदों का विरोध ऐसे ही जारी रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here