हत्या का प्रयास और लूट – मामूली घटना सौजन्य से थाना मंडुआडीह

वाराणसी , थाना मंडुआडीह अंतर्गत एलेक्सी अपार्टमेंट में रहने वाले एक प्राइवेट कंपनी के सेल्स मैनेजर रजनीकांत पाठक की गला दबाकर हत्या का प्रयास किया गया ,उनके अपार्टमेंट में घुस कर अपराधियों ने घटना को अंजाम दिया , रजनीकांत को बुरी तरह मारा पीटा गया उसको कम्पनी द्वारा मिले लैपटॉप , टैब तथा हाथापाई में उसके गले की सोने की चेन भी अपराधियों ने छीन लिया , घटना के सम्बंध में बताया जाता है कि पीड़ित का अपनी पत्नी से किसी बात को लेकर तू तू मैं मैं हो रही थी उसी समय उसकी पत्नी ने अपने भाई
थाना जैतपुर निवासी शुभम को फोन की उस फोन कॉल पर उसके भाई लोग 3,4 लोगों को लेकर आ धमके और रजनीकांत को बुरी तरह उनके फ्लैट में मारा गला दबाकर हत्या का प्रयास किया और उसके साथ आये अपराधियों ने लैपटॉप , टैब , बैग आदि भी उठा लिया और रजनीकांत को घसीटते हुए लेकर गए , और गाड़ी में बैठा कर अपहरण कर भागने लगे , किसी महिला अधिवक्ता की स्कूटी ने इनका पीछा किया तो , वो लोग घबरा कर उसे मंडुआडीह थाने के करीब ही धकेल कर भाग गए , ये घटना 25 नवम्बर की है पीड़ित किसी तरह थाने पंहुचा तो उसे दूसरे दिन आने को बोल कर टहला दिया , वो चक्कर काटते हुए दूसरे दिन किसी प्रकार पुलिस आयुक्त को प्रार्थना पत्र दिया तो आयुक्त महोदय के कार्यालय से कार्यवाही का आदेश हुआ , जिसपर थानाध्यक्ष मंडुआडीह राजीव  कुमार ने पीड़ित को बुलाकर कहा जैसा मैं कह रहा हूँ वैसा FIR लिखवाओ , फिर पीड़ित का मुकदमा 323, 504, 506 में दर्ज किया लूट और घर मे घुस कर संगीन अपराध की धारा को सिरे से गायब कर दिया , पीड़ित का मेडिकल हुआ जिसमें चोटें स्पष्ट हैं , किन्तु आज दिनांक 29 नवम्बर को थानाप्रभारी महोदय ने शरलॉक होम्स की प्रतिभा दिखाते हुए फाइनल रिपोर्ट लगा दी कि ये मामला मारपीट का है ही नही , वैसे भी अजयकुमार की चर्चा टेबल के नीचे से हरे गुलाबी कागजात लेकर काम करने के लिए बहुत ही जोरों पर है ।
अपने अधिकारियों की बात अनसुनी करना भी इनकी आदत में शुमार है , पीड़ित का कहना है कि कल को यदि कोई हादसा या उसकी हत्या हो जाती है तो उसकी जिम्मेदारी उपरोक्त अपराधियों एवम मंडुआडीह थाना पुलिस की साजिश का ही परिणाम होगी ।

घटना का NTGLAWFIRM सुप्रीम कोर्ट तथा ICIJ ने लिया संज्ञान ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here