Home धर्म संसार श्री गुरु अर्जुनदेव जी के बलिदान दिवस पर लगाया लंगर, बलिदान से...

श्री गुरु अर्जुनदेव जी के बलिदान दिवस पर लगाया लंगर, बलिदान से लें सीख : अशोक चोपड़ा

0
15

होशियारपुर (ज्योत्सना विज) मुगल शासक जहांगीर ने अपनी जीवनी ‘तुज़के जहांगीरी’ में स्वयं लिखा है कि गुरु अर्जुन देव जी की बढ़ रही लोकप्रियता से आहत था, इसलिए उसने गुरु जी को मारने का फैसला कर लिया। लेकिन इससे पहले उसने पंचम पातशाह गुरु अर्जुन देव जी को इस्लाम कबूल करने के लिए कहा एवं इस उपरांत उन्हें सभी सुख सुविधाएं देने की बात की पर अपने धर्म के पक्के गुरु अर्जुन देव जी ने मुगल शासक की बात को सिरे से नकार दिया ।
उपरोक्त शब्द जिला संघचालक अशोक चोपड़ा जी ने गुरु अर्जुन देव जी की महान शहादत को समर्पित तलवाड दंपति द्वारा लगाए गए लंगर की शुरुआत करते हुए कहे।
अशोक चोपड़ा जी ने कहा धर्मांतरण की आग में जल रहे पंजाब को अगर बचाना है तो आज गुरु अर्जुन देव जी के शहीदी दिवस पर हमें उनकी जीवनी से प्रेरणा लेते हुए अपने धर्म को मजबूत करने की बात करनी होगी। इस मौके समाज सेवी मनोज गुप्ता जी ने कहा कि गुरुजी का जीवन मानवता को समर्पित था और आज उनके द्वारा श्री गुरु ग्रंथ साहब में दर्ज की गई वाणीओं से करोड़ों लोग लाभ प्राप्त कर रहे हैं।


समारोह को संबोधित करते हुए संजीव तलवाड़ ने कहा कि गुरु अर्जुन देव जी को लाहौर में भीषण गर्मी के दौरान इस्लामी कानून ‘यासा व सियास्त’ जिस मैं किसी व्यक्ति का रक्त धरती पर गिराए बिना उसे यातनाएं देकर शहीद कर दिया । तलवाड़ ने कहा कि गुरू जी ने संगत को एक और बड़ा संदेश दिया था कि परमेश्वर की रजा में राजी रहना। जब आपको जहांगीर के आदेश पर आग के समान तप रही तवी पर बिठा दिया, उस समय भी आप परमेश्वर का शुक्राना कर रहे थे:
                  ‘तेरा कीया मीठा लागै
इस मौके गुरु जी की शहादत को याद कर लोगों को तपती गर्मी से बचाने के लिए ठंडे मीठे पानी की शबील का आयोजन भी किया गया । इस मौके आर पी धीर सर्वजीत कौर अश्विनी ओहरी मास्टर कुलदीप जडा राकेश सहारण राजीव महाजन सुमित गुप्ता दीपक गुप्ता संजीव तलवाड़ दीपक कुमार मंगतराम जोधामल सुखा स्तओरीय भी हाजिर थे।

नेशनल रिपोर्टर : ज्योत्सना विज

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here