Home देश जातिगत आरक्षण के खात्मे से ही आएगा राम राज : शर्मा

जातिगत आरक्षण के खात्मे से ही आएगा राम राज : शर्मा

0
28

आ.स.स.स. ने श्री राम नवमी पर भगवान राम से मांगी सामान्य वर्ग के हो रहे संविधानिक उत्पीड़न पर रोक !

फिरोजपुर (अशोक भारद्वाज) आरक्षण संघर्ष समन्वय समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष अधिवक्ता अभय कांत मिश्रा व पंजाब प्रदेश प्रभारी साहिल गुप्ता के दिशा निर्देश पर प्रदेश मीडिया प्रभारी अशोक भारद्वाज के नेतृत्व में स्थानीय नामदेव चोंक में श्री राम नाम का जाप कर रामनवमी मनाई गई। जिसमें पंजाब प्रधान अश्वनी शर्मा विशेष तौर पर उपस्थित हुए।

आरक्षण संघर्ष समन्वय समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अभय कांत मिश्रा (अधिवक्ता सुप्रीम कोर्ट ऑफ इंडिया)

सर्वप्रथम भगवान श्री राम की मूर्ति पर पुष्प अर्पित कर उनसे आशीर्वाद लिया गया। अशोक भारद्वाज द्वारा प्रभु श्री राम को भोग लगाया गया। समिति के सदस्यों द्वारा श्री राम नाम का 1001 जाप करने के बाद भजन कीर्तन किया गया।

इस मौके समिति के सदस्यों द्वारा प्रभु श्री राम को एक भावनात्मक मांगपत्र भी दिया गया। समिति के सदस्यों ने भगवान राम के समक्ष खड़े होकर श्री राम के जन्म दिवस के उपलक्ष में उनसे जनरल कैटेगरी (सामान्य वर्ग ) के साथ हो रहे संविधानिक उत्पीड़न पर रोक लगाने की मांग की। इस मौके अश्वनी शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि केंद्र शासित भाजपा देश की पूर्व सरकारों की तरह देश में जातिवाद का खेल खेल रही है। जातिगत आरक्षण के नाम पर सामान्य वर्ग के बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि सामान्य वर्ग पर कभी एससी एसटी एक्ट, कभी जातिगत आरक्षण, तो कभी अल्पसंख्यकों को सुविधाएं देने के नाम पर अत्याचार हो रहा है। दिन-ब-दिन सामान्य वर्ग की स्थिति बद से बदतर हो रही है। अश्विनी शर्मा ने कहा की सामान्य वर्ग केंद्र सरकार को अपनी समस्याओं से अवगत करवाने के लिए बार-बार मांग पत्र देकर थक चुका है, अब भगवान के समक्ष विनती पुकार के इलावा उनके पास कोई रास्ता नही है, क्योंकि भाजपा हर बार यह कहते हुए अपनी नाकामियों को छुपाने का प्रयास करती है कि वे श्रीराम को लाए हैं।

शर्मा ने कहा की भाजपा ने प्रभु श्री राम द्वारा स्थापित रामराज का हवाला देते हुए देश में रामराज लाने की बात कहकर सत्ता हासिल की थी। लेकिन जातिवाद की राजनीति करके भाजपा रामराज के विपरीत चल पड़ी। उन्होंने कहा कि जब तक देश में जातिगत आरक्षण है तब तक रामराज नही आ सकता, क्योकि प्रभु श्री राम अपने राज में सभी वर्गों से बराबर स्नेह करते थे।

इस मौके रमित कुमार, श्याम लाल, सुभाष कुमार, जगदीश कुमार, मनोज कुमार, रतन शर्मा, भरत शर्मा, राज किशोर पांडे ,अजय मोंगा, मोहन लाल, गुलाटी जी ,मोनू शर्मा आदि उपास्थि थे।

Report : Ashok Bhardwaj

 

 

 

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here