सरकारों की गलत नीतियों पर सामान्य वर्ग की चुप्पी ने ली डॉ. अर्चना की जान : शर्मा

0
27

आरक्षण संघर्ष समन्वय समिति द्वारा डॉ अर्चना शर्मा को श्रद्धांजलि

डॉ अर्चना शर्मा को टॉर्चर करने वाले सभी दोषी हों तुरंत गिरफ्तार : राज कुमार

फिरोजपुर (अशोक भारद्वाज) आरक्षण संघर्ष समन्वय समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष अधिवक्ता अभय कांत मिश्रा के दिशा निर्देश पर स्थानीय बाबा नामदेव चोंक में स्थित समिति दफ्तर में पंजाब प्रधान अश्वनी शर्मा के नेतृत्व में डॉ अर्चना शर्मा को श्रद्धांजलि दी गई।

आरक्षण संघर्ष समन्वय समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अभय कांत मिश्रा (अधिवक्ता सुप्रीम कोर्ट ऑफ इंडिया)

इस मौके समिति के पंजाब प्रदेश मीडिया इंजार्ज अशोक भारद्वाज ने विशेष तौर पर उपस्थित होकर नम आंखों से मृतका डॉ अर्चना शर्मा की तस्वीर पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

अशोक भारद्वाज
पंजाब प्रदेश मीडिया प्रभारी
आरक्षण संघर्ष समन्वय समिति

इस मौके अश्वनी शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि पिछले दिनों राज्यस्थान के लालसोट में आनंद अस्पताल में एक प्रसूता का कॉम्प्लिकेटेड केस आया। जिसके बाद मशहूर गाइनाकोलॉजिस्ट डॉ अर्चना के नेतृत्व में महिला का इलाज शुरू कर दिया गया। लगातार दो घंटे काफी मशक्कत करने के बाद भी इलाज दौरान रक्तस्राव के चलते प्रसूता का देहांत हो गया। आगे जानकारी देते हुए अश्वनी शर्मा ने बताया कि प्रसूता अनुसूचित जाति की होने के कारण वहां के भाजपा नेताओं ने अनुसूचित जाति में अपनी राजनीति चमकाने के चक्कर में अस्पताल के बाहर धरना लगा दिया। जिसमे 200 के लगभग भीड़ इक्कठी करके बीजेपी नेता शिव शंकर बलिया जोशी, हरकेश मटलाना, पूर्व विधायक जितेंद्र गोठवाल, बीजेपी सांसद डॉ. किरोड़ी लाल मीणा आ धमके और डॉक्टर अर्चना शर्मा व उसके पति डॉक्टर सुनीत शर्मा पर जाति उत्पीड़न का इल्जाम लगाते हुए, एस सी एस टी एक्ट सहित कत्ल की धाराएं लगाकर उन पर मुकदमा दर्ज करने की मांग करने लगे।

जिसके बाद प्रशासन ने दबाव में आकर डॉ अर्चना शर्मा व उसके पति डॉक्टर सुनीत शर्मा के खिलाफ संगीन धाराएं लगाकर मामला दर्ज कर लिया। जिसके बाद डॉ अर्चना शर्मा ने अपने ऊपर लगे झूठे आरोपों से परेशान होकर आत्महत्या कर ली। अश्वनी शर्मा ने डॉक्टर सुनीत के एक वीडियो बयान का हवाला देते हुए बताया कि भाजपा नेता पैसों की मांग कर रहे थे, वही प्रसूता के पति द्वारा कहा गया कि वह कोई कार्रवाई नहीं चाहते थे, क्योंकि अस्पताल प्रशासन ने अपनी तरफ से मेरी पत्नी की जान बचाने की पूरी कोशिश की थी, उनसे जबरन साइन लिए गए। बीजेपी नेता शिवशंकर बलिया जोशी जो पहले भी आनंद हॉस्पिटल से कई बार फिरौती लेने की कोशिश कर चुके थे, जिसको लेकर अस्पताल ने उसके खिलाफ शिकायत भी दर्ज कराई थी, लेकिन डॉक्टर किरोडी लाल मीणा के चलते उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जाती। वह इलाके का हिस्ट्रीशीटर है और कई अपराधिक गतिविधियों में संलिप्त रहता है। अश्वनी शर्मा ने नम आंखों से भावुक होते हुए कहा की सामान्य वर्ग पर हो रहे सरकारों की सामान्य वर्ग प्रति गलत नीतियों,संवैधानिक व राजनीतिक पार्टियों द्वारा किए जा रहे उत्पीड़न पर सामान्य वर्ग की चुप्पी के कारण ही डॉक्टर अर्चना शर्मा की जान गई है।

अश्वनी ने सामान्य वर्ग को अपील करते हुए कहा की यदि हम आज भी राजनीतिक पार्टियों व संवैधानिक उत्पीड़न के विरुद्ध एकजुट ना हुए तो सामान्य वर्ग के लोग ऐसे ही मरते रहेंगे। इस मौके जिला प्रधान राज कुमार शर्मा ने कहा कि डॉक्टर अर्चना शर्मा ने आत्महत्या नहीं की बल्कि उनका कत्ल हुआ है। उन्होंने कहा कि इस मामले में भाजपा के पूर्व विधायक जितेंद्र गोठवाल को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि बाकी आरोपी भाजपा के रसूक के चलते खुले में घूम रहे हैं। राज कुमार ने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि जल्द डॉ अर्चना को आत्महत्या करने के लिए मजबूर करने वाले सभी आरोपियों को गिरफ्तार ना किया गया तो समिति देशभर में भाजपा के बहिष्कार सहित राजस्थान सरकार का पुतला फूंक प्रदर्शन करेगी। इस मौके जगदीप जोनी, रमित कुमार, मोहनलाल, श्याम सुंदर, मोनू शर्मा सहित अन्य साथी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here